ताज महल का इतिहास-Taj Mahal In Hindi

ताज महल का इतिहास-Taj Mahal In Hindi

ताज महल भारत के आगरा शहर की एक दरोहर है । जिसका पुरे विशव में चर्चा है। यह मुग़ल सम्राट शाहजंहा द्वारा अपनी पत्नी की यादगार में बनाया गया मुग़ल कारागिरी का एक नमूना है। यह एक ऐसी ईमारत है जिसे दूर -दूर से लोग देखने के लिए आते है। (ताज महल का इतिहास-Taj Mahal In Hindi) इसका निर्माण 1648 में हुआ था। इसका पता धर्मपुरी, फॉरेस्ट कॉलोनी, ताजगंज, आगरा, उत्तर प्रदेश 282001 है इसकी कुछ विशेषता इस प्रकार है-

Taj Mahal In Hindi

ताज महल का इतिहास-Taj Mahal In Hindi

  1. यह एक संगमरमर से बना मकबरा है जो दिखने में काफी सुंदर और सुशोबित है।
  2. इस मकबरे का गुम्बंद सबसे अधिक शानदार है यह बाई तरफ से काफी सुंदर दीखता है।
  3. इसका गुम्बंद बेलनाकर आधार पर बनाया गया है यह एक उलटे रखे कमल की तरह दीखता है। यह मकबरे के किनारों को आकाश से जोड़ने का कम करता है।
  4. ताज महल विशव के सात अजूबो में शामिल है। जिसका निर्माण कार्य 1632 शुरू हुआ था। इसको 22000 मजदूरो ने मिलकर पूरा किया ।
  5. उस संमय ताज महल को बनाने में 3.2 करोड़ का खर्चा हुआ था लेकिन आज के समय में इस तरह की ईमारत को बनाने में अरबो-खरबों का खर्चा आयेगा।
  6. शाहजहाँ के पुत्र औरंगजेब ने शाहजहाँ को  आगरा के किले में नजर बंद कर दिया था व उसकी मृत्यु के बाद उसे उसकी पत्नी के बराबर में दफना दिया था ।
  7. 1857 के भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दोरान ताज महल का काफी नुकसान हुआ। इसके बहुमूल्य रत्न, संगरमर पत्थरों को दीवारों से खोद कर निकल लिया गया। (ताज महल का इतिहास-Taj Mahal In Hindi)
  8. सन 1942 में सरकार ने मकबरे के आस पास एक सुरक्षा कवच तैयार करवाया और सुरक्षा प्रधान की।
  9. 1965 एवम 1971 के भारत पाकिस्तान के युद्ध में भी ताजमहल की सुरक्षा बड़ा दी गई। ताकि बम बारी से बचाव किया जा सके।
  10. ताज महल को कारखाने व फेक्टरियो के धुआ से इसकी परत पर काले रंग के धब्बे पड़ने लग गए थे। जिसका सर्वोच्च नयायालय ने कदा विरोध किया। व 1983 में इसे यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल घोषित किया।
  11. ताज महल को काफी पर्यटक भारी मात्रा में देखने के लिए आते है लगभग 12000 से 140000 पर्यटक रोजाना ताजमहल के लिया विजिट करते है।
  12. ताज महल के लिया अलग -अलग तरह के पथरो को राजस्थान, चीन व अफगानिस्तान और तिब्बत से लाया गया था।
  13. ताज महल को जिस भी समाया देखते है उस समय वह अपने अलग -अलग रंग में दीखता है।
  14. ताज महल को बनाने वाले मिस्त्री अहमद लोहरी को ताज महल बनाने के बाद अपांग कर दिया गया था ताकि वह कोई इस तरह की और ईमारत ने तैयार ने कर सके। उसके व उसके मजदूरो के हाथ काट दिए गए थे।
  15. दुनिया के सात अजूबो में ताज महल तीसरे नंबर पर आता है।
  16. ताज महल एक समरक है। जो की कभी बिक नहीं सकता। इसको कोई खरीद नहीं सकता

Tagline-ताज महल का इतिहास-Taj Mahal In Hindi, History of Taj Mahal, Taj Mahal Ek Prem Kahani, Taj Mahal Ek Ajooba.

Hawa mahal facts, हवा महल से जुड़ी दिलचस्प बातें

Author: Karamvir

Hello friend my self is Karamvir from, Madlauda, District Panipat, Haryana, (India) i will provide you information about latest technology, general knowledge and much more. I hope you will be satisfied with me. For more info you can email me on this address: fmsmld765@gmail.com

18 thoughts on “ताज महल का इतिहास-Taj Mahal In Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *