delhi | information about delhi, दिल्ली की खासियत जाने।

delhi | information about delhi, दिल्ली की खासियत जाने।

information about delhi – दिल्ली भारत की राजधानी है। दिल्ली की भूमि सशक्त ऐतिहासिक पृष्ठभूमि रही है। इस विशाल साम्राज्य पर  भारतीय इतिहास के कुछ सर्वाधिक शक्तिशाली सम्राटों ने शासन किया था। इस शहर का इतिहास महाभारत के इतिहास जितना ही पुराना है। काफी समय पहले इस शहर को इंद्रप्रस्थ के नाम से भी जाना जाता था, यह पर कभी पांडवो का निवास था। इंद्रप्रस्थ के आसपास आठ शहर लाल कोट, दीनपनाह, किला राय पिथौरा, फिरोज़ाबाद, जहांपनाह, तुगलकाबाद और शाहजहानाबाद बसते थे। पांच शताब्दियों तक दिल्ली राजनीतिक उथल-पुथल की गवाह रही है। दिल्ली पर खिलजी और तुगलक वंशों के बाद मुग़लों ने भी शासन किया।

delhi

delhi | information about delhi, दिल्ली की खासियत जाने।

information about delhi –अफगान योद्धा मोहम्मद गौरी ने वर्ष 1192 में India Gate राजपूतों के शहर पर कब्जा कर लिया था और 1206 में दिल्ली सल्तनत की नींव रखी थी। वर्ष 1398 में दिल्ली पर तैमूर के हमले ने सल्तनत का खात्मा किया और  लोधी दिल्ली के अंतिम सुल्तान साबित हुए। 1526 में पानीपत की लड़ाई के बाद बाबर ने मुग़ल साम्राज्य की स्थापना की। हिन्दू राजाओं से लेकर मुस्लिंम सुल्तानों तक, दिल्ली का शासन एक शासक से दूसरे शासको के हाथों जाता रहा। शहर की मिट्टी खून, कुर्बानी और देश-प्रेम से सींचती रही। बहुत पुराने समय से पुरानी ‘हवेलियां’ और पुरानी इमारतें खामोश खड़ी हैं सैंकड़ों वर्षों पहले उनमें लोग रहा करते थे।

delhi

delhi | information about delhi, दिल्ली की खासियत जाने।

information about delhi – 1803 ई. में दिल्ली पर अंग्रेजों का कब्जा हो गया। साल 1911 में अंग्रेजों ने दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया। यह शहर दोबारा शासकीय गतिविधियों का केन्द्र बन गया। इनमें ब्रिटिश और वे वर्तमान राजनीतिक पार्टियां भी शामिल हैं, जिन्हें स्वतंत्र भारत का नेतृत्व करने का गौरव हासिल हुआ है। 1947 में स्वतंत्रता प्राप्ति के पशचात नई दिल्ली को अधिकारिक तौर पर भारत की राजधानी घोषित किया गया।

delhi

delhi | information about delhi, दिल्ली की खासियत जाने।

new delhi आधुनिक दिल्ली, जो लुटियन की दिल्ली के नाम से नाजी जाती है, वास्तुकला, भवन निर्माण सामग्री और भवनों की योजना के संबंध में पुरानी दिल्ली से बिलकुल अलग है। जबकि आधुनिक दिल्ली स्वयं भी एक शताब्द से अधिक पुरानी है, जब ब्रिटिश शासकों ने कलकत्ता से बदलकर दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया था। नई दिल्ली का रूप जैसा आज दिखाई देता है, वह लुटियन द्वारा डिजाइन किया गया था, जिसमें बड़े-बड़े खुले लॉन, एवेन्यू और भवन देखे जाने लायक हैं। 

delhi tourism – दिल्ली की यात्रा करते हुए कोई भी यह बात महसूस कर सकता है कि वह ऐतिहासिक महत्व वाले आधुनिक मेट्रोपॉलिटन शहर में यात्रा कर रहा है। दिल्ली का इतिहास बहुत लंबा और उतार-चढ़ाव वाला है। दिल्ली ने कई साम्राज्यों के उभरते हुए और पतन होते हुए देखा है। आज की दिल्ली सात शहरों के खंडहरों पर टिकी हुई है, जिस पर हिंदू राजपूतों से लेकर मुगल और आखिर में ब्रिटिशों ने अपना साम्राज्य स्थापित किया है। दिल्ली में कई जातीय समूहों और उनकी संस्कृति व परंपराओं को आत्मसात किया है। यहां की कला, हस्तशिल्प, खान-पान, त्योहारों और जीवनशैली में भी साफ झलकता है।

delhi travel दिल्ली की यात्रा का सबसे अच्छा वक्त अक्टूबर से मार्च तक है इस समय के दौरान मौसम काफी खुशनुमा होता है। ताकि पर्यटक शहर के अलग-अलग नजारों का आनंद उठा सके। दिल्ली में गर्मियों में दिल्ली का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। इस वजह से पर्यटकों को गर्मी के मौसम में दिल्ली में आने पर बहुत तकलीफ महसूस होती है।  

delhi tourism दिल्ली में घूमने के लिए जगहें

  • इंडिया गेट
  • राष्ट्रपति भवन
  • लाल किला
  • जामा मस्जिद
  • गुरुद्वारा बांग्ला साहिब
  • जंतर मंतर
  • कुतुब मीनार
  • बहाई मंदिर (लोटस टेम्पल)
  • राज घाट
  • पुराना किला
  • लोधी गार्डन
  • हुमायूं का मकबरा
  • सफदरजंग का मकबरा
  • अक्षरधाम मंदिर
  • कनॉट प्लेस
  • दिल्ली हाट
  • लक्ष्मीनारायण टेम्पल (बिड़ला मंदिर)
  • इस्कॉन टेम्पल
  • नेशनल जूलॉजिकल पार्क
  • निजामुद्दीन दरगाह
  • राज घाट
  • बिजय मंडल
  • सुनहरी मस्जिद
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय केंद्र
  • जमाली कमाली मस्जिद
  • लाल कोट
  • म्यूटिनी मेमोरियल (गदर स्मारक)
  • कालका जी मंदिर
  • राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र
  • दिगंबर जैन मंदिर
  • पांच इंद्रियों का बगीचा (गार्डन ऑफ फाइव सेंसेस)
  • राष्ट्रीय रेल संग्रहालय

How Reach Delhi दिल्ली कैसे पहुंचें

भारत की राजधानी नई दिल्ली में बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। इस शहर तक पहुंचना कोई मुश्किल बात नहीं है। देश के अलग-अलग हिस्सों और विदेशों से कई लगातार फ्लाइट्स, ट्रेन और बस इस शहर तक आपको पहुंचाती हैं।

अगर आपको दिल्ली पहुंचना है। हम आपको कुछ आसान रास्ते बताएंगे, जिनके द्वारा आप लाल किला, कुतुब मीनार, लोटस टेम्पल और काफी कुछ को अपने में समेटने वाले शहर तक पहुंच सकते हैं।

 

By Air हवाई मार्ग से

दिल्ली का इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट दुनिया के सभी महत्वपूर्ण शहरों के एयरपोर्ट से जुड़ा हुआ है। इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से ही लगभग सभी बड़ी इंटरनेशनल एयरलाइंस अपनी फ्लाइट्स संचालित करती हैं। पालम डोमेस्टिक एयरपोर्ट एक घरेलू विमानतल है, जहां भारत के अन्य बड़े शहरों से आने वाली उड़ानें आती हैं।

 

दिल्ली को दूसरी दुनिया से जोड़ने वाली बड़ी इंटरनेशनल एयरलाइंस

ब्रिटिश एयरवेज- लंदन (हीथ्रो एयरपोर्ट)

एयर फ्रांस पेरिस से (चार्ल्स डी गॉल एयरपोर्ट)

चाइना एयरलाइंस रोम- फ्यूमिसिनो

जापान एयरलाइंस- टोक्यो

श्री लंका एयरलाइंस कोलंबो

Tagline- delhi, information about delhi,How Reach Delhi ,delhi tourism,delhi travel, new delhi

 

Follow us on Facebook Group

इन्हें भी जरुर पढ़े

IRCTC Online Ticket Booking Advice In Hindi, IRCTC से ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करने के सुझाव
इंटरनेट के बारे में 15 रोचक बाते | Internet facts hindi me
YouTube के बारे में 15 रोचक तथ्य | YouTube facts Hindi me
विज्ञान के बारे में 22 रोचक तथ्य | Science facts in Hindi
गूगल के बारे में 30 गजब रोचक तथ्य | Google Facts in Hindi
CID और CBI में क्या अंतर होता है | Difference between CID and CBI in Hindi

प्रिय पाठको नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में जरुर बताये हमारे द्वारा लिखी गई पोस्ट आपको कैसी लगी, उम्मीद है आपको उपरलिखित जानकारी अवश्य पसंद आई होगी।

 

Author: Karamvir

Hello friend my self is Karamvir from, Madlauda, District Panipat, Haryana, (India) i will provide you information about latest technology, general knowledge and much more. I hope you will be satisfied with me. For more info you can email me on this address: fmsmld765@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *