भगत सिंह सम्बन्धित ग़ज़ब रोचक तथ्य- Bhagat Singh In Hindi

Interesting facts about Bhagat Singh in Hindi

Bhagat Singh द्वारा भारत की आजादी के लिए दी गई, प्राणों की बलिदानी को कभी भुलाया नहीं जा सकता। शहीद भगत सिंह भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी थे। इन्होने भारत की आज़ादी के लिए पुरे साहस और पूरा दम लगाकर अंग्रेजो का मुक़ाबला किया। ये एक सच्चे करान्ताकारी एवम देशभक्त थे। शहीद भगत सिंह क्रांति का दूसरा नाम है। 


 Bhagat

Bhagat Singh In Hindi

इनका जन्म 28 सितंबर 1907 में लायलपुर ज़िले के बंगा नामक स्थान पर हुआ था, जो अब पाकिस्तान देश के अंदर आता है जिस समय शहीद भगत सिंह का जन्म हुआ उस दौरान इनके चाचा अजीत सिंह तथा शवान सिंह भारत की आजादी के लिए लड़ाई लड़ रहे थे। यह अपने देश की स्वतंत्रता के लिए मात्र 23 साल की उम्र में हंसते-2 फांसी पर लटक गए थे। शहीद भगत सिंह के बारे में बहुत सारी ऐसी बातें हैं, जो आज भी स्पष्ट नहीं है। इस पोस्ट में माध्यम से आपको कुछ रोचक जानकारी आप तक पहुचने की कोशीश करेंगें।

JABARDAST QUOTES BY BHAGAT SINGH

राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है, मैं एक ऐसा पागल हूँ जो जेल में भी आजाद है – BHAGAT SINGH

लिख रहा हूं मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा मैं रहूं या ना रहूं पर यह वादा है तुमसे मेरा कि मेरे मरने के बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा – BHAGAT SINGH

अगर बहारों को सुनना है तो आवाज को बहुत जोरदार होना होगा जब हमने बम गिराया तो हमारा मकसद किसी को मारना नहीं था हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था – BHAGAT SINGH

“मेरा रंग दे बसंती चोला मेरा रंग दे मेरा रंग दे बसंती चोला माय रंग दे बसंती चोला”  – BHAGAT SINGH

एक क्रांतिकारी सबसे अधिक तक में विश्वास करता है वह केवल तर्क और तर्क में ही विश्वास करता है  – BHAGAT SINGH

खुदा के आशिक तो हैं हजारों बनो में फिरते हैं मारे-मारे मैं उसका बंदूक बनूंगा जिसको खुदा के बंदों से प्यार होगा  – BHAGAT SINGH

जिंदगी तो अपने दम पर ही जी जाती है दूसरों के कंधे पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते हैं  – BHAGAT SINGH

व्यक्तियों को कुचल कर विचारों को मारा नहीं जा सकता – BHAGAT SINGH

देशभक्तों को अक्सर लगो पागल कहते है, हमें पागल ही रहने दो, हम पागल ही अच्छे है  – BHAGAT SINGH

प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बनते है वो है जनून  – BHAGAT SINGH

“उन्हें यह फ़िक्र है हरदम, नया तर्ज – ए – जफा क्या है, हमें यह शोंक है देखे, सितम की इन्तहा क्या है?

दहर से क्यों खफा रहे, चर्ख का क्या गिला करें। सारा जहा अंधु सही, आओ! मुकाबला करे।।”   SHAHID BHAGAT SINGH

सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

देखना है जोर कितना बाजू -ए- कातिल में है

रहबर- ए- राह- ए मोहब्बत, रह न जाना राह में

लज्जत- ए सहनावर्दी दूरी- ए मंजिल में है।

वक्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमान

हम अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में है।

आज फिर मकतल में थे कातिल कह रहा है बार-बार

क्या तमन्ना-ए शहादत भी किसी के दिल में है।

ए शहीद -ए मुल्कों मिल्लत में तेरे जज्बों से निसार

अब तेरी कुर्बानी की चर्चा गैर की महफ़िल में है

अब ना पहले वलवले हैं और ना अरमानों की भीड़

एक मिनट जलने की हसरत अब दिल- ए ‘बिस्मिल’ में है

Bhagat Singh

Bhagat Singh In Hindi

भगत सिंह सम्बन्धित ग़ज़ब रोचक तथ्य:-

  1. बचपन में भगत सिंह ने अपने पिता से एक बात पूछी कि हम खेत में बंदूक नही उगा सकते क्या?
  2. जलियावाला बाग कांड घटना ने भग़त सिंह को मात्र 12 साल की उम्र में ही क्रांतिकारी बना दिया था।
  3. भगत सिंह ने कालेज में ही नेशनल यूथ ओर्गेनैजेसन की स्थापना की थी।
  4. भग़त सिंह अपना घर छोड़कर कानपुर आ गए थे क्योंकि वे शादी नहीं करना चाहते थे। उन्होनें कहा अब तो आजादी ही मेरी दुल्हन बनेगी।
  5. पढाई के दौरान भग़त सिंह को कुश्ती के शौक के साथ- नाटको में भी हिस्सा लेते थे और एक अच्छे अभिनेता भी थे।
  6. उनके मन में कम उम्र से ही अंग्रेजो के खिलाफ विद्रोह की आग थी।
  7. भगत सिंह घटना वाले दिन वह स्‍कूल से जल्दी भागकर जलियांवाला बाग में हुई घटना को देखने  पहुंचे। उन्‍होंने वहा से एक बोतल लेकर उसमे खून से सनी मिट्टी को भर लिया था। वे रोज इस बोतल की पूजा करते थे।
  8. हिन्दू-मुस्लिम दंगों से दुखी भगत सिंह पढ़ते-पढ़ते एक नास्तिक बन गए थे उन्होंने सिख धर्म सम्बन्धित मान्‍यताओं को भी मानने से इंकार कर दिया था।
  9. भगत सिंह ने Central Assembly पर अंग्रेजी सरकार को डराने के मकसद से बम फेंका था।
  10. भगत सिंह क्रांति कारी होने के साथ एक लेखक भी थे। उस समय के अखबारों में उनके लेख भी छपते थे। 

  11. इन्होने लाहौर जेल में एक डायरी बनाई थी जिसमे ये आजादी और क्रांति के बारे में कुछ न कुछ लिखते रहते थे।
  12. भगत सिंह से जेल में अंग्रेज अधिकारी काफी परेशान थे। उनसे प्रभावीत जेल में बंद सभी कैदी अंग्रेजी राज के होकर विरोध करने लगे।
  13. अंग्रेजो से बचने के लिए भग़त सिंह ने बाल कटवा लिए और दाढ़ी भी साफ करवा ली थी। अंग्रेजो से बचने के लिए ऐसा करना बहुत जरूरी था।
  14. भगत सिंह, महात्मा गांधी की अहिंसा की नीतियों विरुद्ध थे व सोचते थे कि बिना हथियार चलाये  आजादी नहीं मिल सकती हैं।
  15.  भग़त सिंह राजगुरु और यशपाल के साथ फिल्म देखने जाते थे। वे चार्ली चैप्लिन की  फिल्मो  के बहुत शौकीन थे।
  16. भगत सिंह चाहते थे की उनकी गोली मार कर हत्या की जाए। लेकिन अंग्रेजो ने उनकी इस इच्छा को भी नज़रअंदाज़ कर दिया

Tag Line – Bhagat Singh Biography, Bhagat Singh quotes, Bhagat singh in Hindi, Bhagat singh krantakari

Apj Abdul Kalam History In Hindi, अब्दुल कलाम का जीवन परिचय

Author: Karamvir

Hello friend my self is Karamvir from, Madlauda, District Panipat, Haryana, (India) i will provide you information about latest technology, general knowledge and much more. I hope you will be satisfied with me. For more info you can email me on this address: fmsmld765@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *